October 1, 2022
Big Bull Cryptocurrency Price

Big Bull Cryptocurrency Price In Hindi

Big Bull Cryptocurrency Price :- Big bull क्रिप्टोकरेंसी ऐसी डिजिटल करेंसी को कहते हैं, जिनके बाजार में बहुत अधिक तेजी देखी जाती है और इनका ग्रोथ रेट 20% से नीचे नही होता।

आमतौर पर देखा जाए, तो क्रिप्टोकरेंसी, Stocks, Real State ये सब ऐसे बाजार हैं, जिनमें पल-पल उतार-चढ़ाव देखने को मिलता है पर इन सबको big bull cryptocurrency price नही कह सकते।

तो आज हम इस आर्टिकल में Bull और Bear के कांसेप्ट को समझेंगे तथा आपको Big Bull Cryptocurrency Price के बारे में बताएँगे विस्तार से जानने के लिए आप हमारे लेख को अंत तक पढ़ें


Cryptocurrency में Big Bull price क्या है ?

मार्केट में आने वाली तेजी जिसमें भारी उछाल देखने को मिले साथ ही 20% या उससे  अधिक  का ग्रोथ रेट हो और यह ग्रोथ मार्केट में लम्बी समयावधि के लिए होनी चाहिए। मार्केट के इसी ग्रोथ को और इसके कारण क्रिप्टोकरेंसी के प्राइस में आने वाली भारी वृद्धि को ही big bull price कहते हैं।

सीधे शब्दों में कहें तो किसी भी मार्केट की इकोनॉमिक स्थिति होती है जिसमें उस क्रिप्टोकरेंसी की price बढ़ रही होती है या बढ़ने की उम्मीद होती है।

वैसे देखा जाए तो बुल शब्द का उपयोग Stock मार्केट में सिक्योरिटी, ऐसेट्स, करेंसी और कमोडिटी की लम्बे समय के लिए मूल्यों में वृद्धि के लिए किया जाता है।

बुल मार्केट महीनों तक यहां तक कि वर्षों तक बने रह सकते हैं। आम तौर पर बुल मार्केट तब होता है, जब स्टॉक की कीमतें 20-20 प्रतिशत की दो अवधियों की गिरावट के बाद 20 प्रतिशत तक बढ़ जाती हैं।

ट्रेडर बुल मार्केट का लाभ उठाने के लिए खरीद में बढ़ोतरी, होल्ड या रिट्रेसमेंट जैसी कई रणनीतियों का सहारा लेते हैं।


बीयर मार्केट क्या है ?

जब मार्केट बहुत लंबे समय तक अपना मूल्य खोता रहे और वित्तीय अस्थिरता आ जाये निवेशकों का विश्वास कम हो साथ ही मूल्य में कम से कम 20% तक गिरावट दर्ज हो और यह 2 महीने या उससे अधिक समय के लिए हो सकता है इसे ही बीयर मार्केट कहते हैं।

बीयर मार्केट आने से सकल घरेलू उत्पाद कम हो जाती है, बेरोजगारी दर बढ़ने लगती है साथ ही व्यापारिक मंदी कि ओर हम बढ़ने लगते हैं लेकिन कई ऐसे निवेशक हैं जो आपदा को अवसर समझते हैं और ऐसे निराशा भरे समय में भी खूब शेयर खरीदते हैं कभी यह बहुत अधिक फायदे वाला ट्रेड होता है लेकिन कई बार मार्किट रिकवर नही कर पाता और यह निवेशकों का भारी मात्रा में पैसा डूबा जाता है।

मार्केट में बीयर का अर्थ है मंदी और इसके आने के व्यापक कारण हो सकते हैं कई बार यह कारण अंतराष्ट्रीय घटनाओ से प्रभावित होते हैं और जैसे ही वहां हालात सुधरते हैं मार्केट बीयर से बुल की ओर बढ़ने लगता है।


बीयर मार्केट कैसे काम करता है ?

यह बाजार की डिमांड और सप्लाई पर आधारित है। मार्केट में महंगाई के बढ़ने से या इनफ्लेशन के कारण उत्पाद का मूल्य बढ़ जाता है और लोग उसे खरीद नही पाते जिससे उसकी बिक्री कम हो जाती है लेकिन लगातार उत्पादन में वृद्धि बनी रहती है और यदि इसकी डिमांड ना बढ़े तब इसके मूल्य में भारी गिरावट देखी जाती है बीयर मार्केट और भी बहुत सारे कारको पर निर्भर करती है।


बुल मार्केट के लक्षण

बुल मार्केट में बुल आने के पीछे बहुत सारे कारण होते और इन सब कारणों में सबसे महत्वपूर्ण यह देखा गया है कि जब निवेशकों, शेयर धारको को पूर्ण विश्वास रहता है कि मार्केट स्टेबल रहेगा और इसके बहुत अच्छे परिणाम मिलेंगे तब मार्केट इससे इंफ्लुएंस होता है और लोग निवेश के लिए प्रेरित होते हैं। पर मार्केट के ट्रेंड में बदलाव को प्रेडिक्ट कर पाना इतना भी आसान काम नही है, हाल के वर्षों में 2003 और 2007 में बुल मार्केट देखा गया था जब एसएंडपी 500 में बहुत तेज वृद्धि देखी गई । मार्केट में बुल आने के संकेत बहुत व्यापक है इससे अर्थव्यवस्था की मज़बूती का पता चलता है या इकोनॉमी आगे बढ़ रही होती है।


बुल मार्केट का लाभ कैसे उठाए ?

जब आप बुल मार्केट से  बड़ा पैसा कमाना चाहते हैं तो आपको बहुत पहले से निवेश करना होता है पहले तो आप निश्चित ऐसेट्स या स्टॉक को आइडेंटिफाई करें और जब वह अपने मूल्य के निचले स्तर पर हो अर्थात मार्केट में नया हो और उसकी भविष्य में सम्भावनाएं हो तब हमें खरीदना चाहिए और जब यह अपने मूल्य के Peak पर हो तब इसे बेच कर लाभ कमाना चाहिए।

लेकिन यह बता पाना बहुत मुश्किल है कि कब मार्केट गिरेगा और कब इसमें वृद्धि देखी जाएगी। यह काम जोखिम भरा हो सकता है लेकिन आपको मार्केट की अच्छी समझ हो तब आप बड़े नुकसान से बच सकते हैं।


बुल मार्केट की विशेषताएं
  • मजबूत सकल घरेलू उत्पाद और घटती बेरोजगारी दर
  • कार्पोरेट घरानो के मुनाफे में वृध्दि
  • निवेशकों के विश्वास में अधिकता
  • अधिक IPO का मार्केट में आना
  • ऐसे निवेशक होते हैं जो प्रतिभूतियों को बेचने में अपनी दिलचस्पी नही दिखाते वे उनका लाभ उठाते हैं

इनमें कुछ बिंदुओं को तो स्पष्टता से मार्केट के साथ कोरिलेट कर गणना कर सकते हैं पर हमेशा ऐसा करना कठिन होता है। जैसे कारपोरेट मुनाफे को मार्केट के साथ रिलेट तो किया जा सकता है किंतु उन्हें आसानी से मापना मुश्किल है।


Cryptocurrency Bull Year

हमारे पास इतनी सारी क्रिप्टोकरेंसी है पर जिनके पास मार्केट का सबसे बड़ा हिस्सा है जिनकी वैल्यू स्टेबल और प्राइस लगातार बढ़ रहा हो ऐसे क्रिप्टो का नाम ढूंढेंगे, तो 2 ही डिजिटल करेंसी है जिनसे लोग पैसा बना रहे हैं।

इसलिए आप देखेंगे कि अन्य किसी भी क्रीप्टो मुद्रा का बुल ईयर नही है केवल बिटकॉइन व एथेरेम ही ऐसे करेंसी है जिनके मुद्रा का मूल्य अधिक ऊपर जाता है और कुछ समय तक इनका मूल्य बढ़ता ही रहता है। हम टेबल में टॉप दो क्रिप्टो करेंसी के बुल ईयर की देखेंगे।

Cryptocurrency      Name Bull Year Growth Rate Price In USD
Bitcoin 2009-15 2960% 0 – 315.13
Bitcoin 2016-20 416%

900 – 29000

Bitcoin 2021 64% 64400
ethereum 2020 464.10% 730 – 4380
ethereum 2021 404.20% 2810 – 5783

निष्कर्ष :-

यदि आप लोगों को यह जानकारी अच्छी लगी हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। यदि अभी भी आपके मन में big bull cryptocurrency price  से संबंधित कोई प्रश्न मन में है, तो आप हमें मेल या कमेंट कर सकते हैं, हम आपके सभी प्रश्नों के उत्तर देने का प्रयास करेंगे।

Read Also :-

Leave a Reply

Your email address will not be published.