October 1, 2022
Digital Currency In India

भारत में शुरू होने वाली डिजिटल करेंसी कौन सी है ? | Digital Currency In India

Digital Currency In India :- दुनिया मे बहुत पहले से विनिमय के रूप में करेंसी का उपयोग हो रहा है। लेकिन बदलते समय के साथ इसके स्वरूप में भी परिवर्तन होने लगा है।

लोग करेंसी में भी अधिक पारदर्शिता और आसान उपयोग के लिए Digital currency की ओर रुख कर रहे हैं । भारत सरकार ने भी इस दिशा में अपनी रुचि दिखाई है।  तो क्या आप Digital Currency In India के बारे में जानते हैं ?

अगर नहीं जानते तो हम आपको आज Digital Currency In India के बारे में विस्तार से बताएँगे, जो कि central bank के द्वारा जारी की जाएगी। पूरा जानने के लिए आप इस लेख को अंतिम तक पढ़िए।


Digital Currency in India

आज से पहले हमारे देश में अधिकतर चीजों को खरीदने के लिए, लेन देन के लिए, नगद कैश का इस्तेमाल अधिक होता रहा है, परंतु अब देश की मोदी सरकार द्वारा भारत में डिजिटल करेंसी को शुरू करने की तैयारी चल रही है, जिससे नगदी के लेन देन के तरीके को डिजिटल रूप दे दिया जाएगा।

अब आपके मन में यह सवाल जरूर आ रहा होगा की ये Digital currency actual में क्या है और यह भारत की सूरत बदलने में किस तरह से योगदान करेगा ?

तो आइए दोस्तों, इस लेख में हम आपको Digital Currency In India के बारे में विस्ताररूप से बताते हैं। तो चलिए शुरू करते हैं।


भारत में शुरू होने वाली डिजिटल करेंसी ?

भारत में शुरू होने वाले डिजिटल करेंसी को ” Digital Rupee ” नाम दिया गया है। यह CBDC के तहत जारी की जाएगी।

CBDC का Full Form  सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी है। वित्त मंत्री सीतारमण जी ने बताया है, कि इसका लीगल टेंडर होगा।

RBI के अनुसार यह सेंट्रल बैंक द्वारा जारी की गई Currency होगी, जिसमें पेपर और Polymer का Use ना के बराबर होगा। Digital Rupee को कैश में भी convert किया जा सकेगा।

यह डिजिटल करेंसी दो तरह की होगी – रिटेल और होलसेल। रिटेल डिजिटल करेंसी का इस्तेमाल आम आदमी द्वारा और कंपनी द्वारा किया जाएगा तथा होलसेल डिजिटल करेंसी का इस्तेमाल वित्तीय संस्थाओं द्वारा किया जाएगा।


भारत की Cryptocurrency | Indian Cryptocurrency In Hindi

1. Polygon

Polygon भारत की सबसे पहली व सबसे पुरानी currency है। इसे 3 लोगो की टीम ने मिलकर बनाया था।

एक न्यूज़ रिपोर्ट के अनुसार भारत की इस cryptocurrency ने दुनिया की टॉप 20 cryptocurrency सूची में अपनी जगह बना ली है। इसका market cap 13 अरब डालर है। इसे पहले matic coin के नाम से जाना जाता था।

2. Jio Coin

Market news के अनुसार, रिलायंस जियो अपनी cryptocurrency लॉन्च करने पर विचार विमर्श कर रही है। रिलायंस जियो इसे Jio Coin के नाम से लॉन्च करेगा, परंतु यह अभी officially announce नही हुआ है। J

io coin, bitcoin की तरह ही ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर based होगा। Jio coin से किसी भी तरह की national व international transaction, शॉपिंग, ट्रेडिंग,  मोबाइल रिचार्ज आदि सब कार्य किये जा सकेंगे।

3. CBDC

Central Bank Digital Currency, यह करेंसी अभी लॉन्च नही हुई है। वित मंत्री निर्मला सीतारमण के अनुसार यह अगले वितीय वर्ष 2022-23 में लॉन्च कर दी जाएगी।

इस currency पर पूरी तरह से सरकार का नियंत्रण होगा और यह ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी सहित अन्य टेक्नोलॉजी पर Based होगा।

4. WRX Coin

WazirX भारत का एक लोकप्रिय crypto currency exchange है। इसका use  करके कोई भी user, cryptocurrency मे इंवेस्ट कर सकता है। इस प्लेटफॉर्म के द्वारा सिर्फ भारतीय ही नहीं बल्कि दुनिया का कोई भी user , इसका इस्तेमाल cryptocurrency में इंवेस्ट करने के लिए कर सकता है।

WazirX के द्वारा खुद का टोकन शुरू किया गया है। इसका नाम WRX Coin रखा गया है। इसको प्रयोग करना बहुत ही आसान है। इसके संस्थापक इसे भारत का सबसे trusted bitcoin exchange बनाने की कोशिश में लगे हुए हैं।


डिजिटल currency की आवश्यकता क्यों

जब हम लोग  नकद पैसों का इस्तेमाल करते हैं, तो कभी या तो वह गलती से फट जाते हैं या फिर वह किसी न किसी रूप में बर्बाद हो जाते है। नकदी पैसों का चोरी का ख़तरा भी बना रहता है।

डिजिटल करेंसी का सबसे बड़ा फायदा यही होगा, कि इस करेंसी को जलाया या बर्बाद नही किया जा सकेगा और जो करेंसी एक बार जारी कर दी जाएगी वह लाइफ टाइम तक रहेगी।

High Security technology की वजह से इसमें चोरी या हैकिंग की possibility भी काफी कम होगी। किफायती होने की वजह से CBDC  को लेकर दुनिया के अन्य देश भी काफी दिलचस्पी दिखाने लगे हैं।


Digital Transaction कैसे होगा

Digital Transaction ब्लॉकचेन सहित अन्य टेक्नोलॉजी पर Based होगा। Normally,

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी Decentralize होती है, परंतु डिजिटल रुपया Decentralized नहीं होगा, क्योंकि इसे RBI रेगुलेट करेगा। जिसकी वजह से इसे एक मोबाइल अकाउंट से दूसरे मोबाइल अकाउंट पर आसानी से ट्रांसफर किया जा सकेगा, यानी यह कहा जा सकता है, कि मोबाइल ही Account होगा।

चीजों की खरीदारी के लिए आप इसे आसानी से उपयोग कर पाएंगे और सभी तरह की सर्विसेज का इस्तेमाल कर पाएंगे। इसको Use करने का तरीका काफी हद तक  वर्तमान समय में चल रहे Online Methods जैसे Gpay, Paytm etc की तरह ही होगा।


डिजिटल रुपया कब लॉन्च होगा ?

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 1 फरवरी 2022 में बजट पेश किया था। इस बजट सत्र में उन्होंने बताया कि RBI डिजिटल रुपया लॉन्च करने वाली है, उन्होंने बताया कि अगले वित्त वर्ष 2022-2023 में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा इसे लाँच किया जाएगा और यह डिजिटल रुपया सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी ( CBDC ) होगी।

वित्त मंत्री ने कहा कि डिजिटल रुपया लॉन्च होने से डिजिटल इकनॉमी को बढ़ावा मिलेगा और currency management system और अधिक efficient हो जाएगा।


डिजिटल रुपया क्रिप्टो करेंसी से कैसे अलग है

डिजिटल करेंसी, बिटकॉइन जैसी Cryptocurrency से बिल्कुल अलग है। क्रिप्टो करेंसी पर किसी भी राज्य, देश या अथॉरिटी का नियंत्रण नहीं होता, परंतु डिजिटल करेंसी पूर्ण रूप से सरकार के अधीन आएगी और  इसका आंतरिक मूल्य भी होगा।

बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी को सरकार ने वर्चुअल एसेट कहा है, यानी कि इसका कोई लीगल टेंडर नहीं होता है, परंतु डिजिटल करेंसी का लीगल टेंडर होगा। इसे क्रिप्टोकरेंसी की तरह ही देखा या छुआ तो नहीं जा सकता, परंतु यह पूरी तरह से आधिकारिक और लीगल होगी।


डिजिटल करेंसी के फायदे | Benefits Of Digital Currency In India
  • सरकार को नकली मुद्रा पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी।
  • नोटों की छपाई में लगने वाली लागत काफी कम हो जाएगी।
  • कुशल और सस्ती मुद्रा प्रणाली बनाने में मदद मिलेगी।
  • ट्रांजैक्शंस के लिए बैंक का रोल बहुत कम रह जाएगा।
  • Sender और Receiver ब्लॉकचेन का प्रयोग करके लेन-देन कर सकते हैं।
  • ब्लॉकचेन के द्वारा की जाने वाली transaction की पूरी जिम्मेदारी RBI की होगी।
  • इसे किसी भी currency से exchange किया जा सकता है।

डिजिटल मुद्रा और अन्य देश

भारत में डिजिटल करेंसी वित्तीय वर्ष 2022-2023 में लाँच की जाने की उम्मीद है। इसे दो version में लाँच की जाने की तैयारी है, पहला रिटेल डिजिटल करेंसी, जिसे आम आदमी और कंपनी के द्वारा प्रयोग किया जाएगा और दूसरा होलसेल डिजिटल करेंसी, जिसे वित्तीय संस्था द्वारा प्रयोग किया जाएगा।

विश्व स्तर पर देखें तो नाइजीरिया भी अपने डिजिटल करेंसी लाँच करने वाला है, जिसका नाम Naira है। वेनेजुएला भी अपने डिजिटल करेंसी यानी CBDC लॉन्च करने की तैयारी में है, जिसका नाम Bolivar है।

साउथ कोरिया डिजिटल करेंसी लाँच करने पर पायलट परीक्षण कर रहा है। रूस, चीन, अमेरिका, यूरोपीय सेंट्रल बैंक भी अपने CBDC यानी डिजिटल मुद्रा लाँच करने की योजनाओं पर पर विचार कर रहे हैं।


For More Info Watch This :


निष्कर्ष :

आज के इस लेख में हमने Digital Currency In India के बारे में जाना है। साथ ही इससे जुड़ी हर छोटी-बड़ी जानकारी से हमने आपको रूबरू करवाया है।

आशा करते हैं, कि आपके लिए यह लेख मददगार साबित होगा। यदि इस लेख से संबंधित आपके मन में कोई भी सवाल है, तो आप हमें कमेंट सेक्शन में लिखकर जरूर बताएं।

Read Also :-

Leave a Reply

Your email address will not be published.