October 7, 2022
RBI Cryptocurrency Name In Hindi

RBI की Cryptocurrency का नाम क्या है ? | RBI Cryptocurrency Name In Hindi

RBI cryptocurrency name In Hindi :- भारत जैसे देश में पिछले कुछ वर्षों में cryptocurrency market  में निवेशकों की संख्या में दिन प्रतिदिन वृद्धि हुई है । जिसके चलते भारतीय रिजर्व बैंक ने लोगों की वित्तीय सुरक्षा के लिए खुद का डिजिटल करेंसी लाँच करने का फैसला लिया है । क्या आप इस RBI cryptocurrency name के बारे में जानते हैं  ?

अगर नहीं जानते, तो आज हम आपको इस लेख में  RBI cryptocurrency name के बारे में बताएँगे। इसके साथ ही इस करेंसी से जुड़ी और भी जानकारी साझा करेंगे । इसे जानना आपके लिए महत्वपूर्ण है।

विस्तार से जानने के लिए आप हमारे लेख को अंत तक पढ़िए।


RBI क्रिप्टो करेंसी का क्या नाम है ? ( RBI Cryptocurrency name In Hindi )

RBI क्रिप्टो करेंसी का नाम सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी ( CBDC ) हो सकता है, हालांकि इस के नाम को लेकर अभी तक कोई निर्णय नहीं आया है।

देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने 2022 के बजट में घोषणा की थी, कि RBI अगले साल तक खुद की डिजिटल करेंसी लाँच करेगा जो पूरी तरह से वैध होगा।

दरअसल अभी तक जो क्रिप्टो करेंसी बाजार में चल रही है वह प्राइवेट कंपनी द्वारा चलाई जा रही है। इस पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं रखा जाता है इसलिए इस पर विश्वास करना थोड़ा कठिन होता है।

लेकिन सेंट्रल बैंक यानी RBI द्वारा जो डिजिटल करेंसी लाँच की जाएगी यह पूरी तरह से विश्वसनीय होगी और इसका नियंत्रण सरकार द्वारा किया जाएगा।


RBI डिजिटल करेंसी या क्रिप्टोकरेंसी क्या है ?

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी RBI द्वारा जारी किया गया एक डिजिटल मुद्रा है। यह डिजिटल करेंसी डिजिटल पेमेंट की तरह बिल्कुल नहीं है। डिजिटल पेमेंट के द्वारा हम बस एक दूसरे को ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं।

जैसे RBI नोट या सिक्के भौतिक रूप से लॉन्च करती है उसी तरह यह डिजिटल करेंसी भी होगी। जिस तरह हमारे नोट या सिक्कों पर भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा मोहर लगा होता है, उसी तरह डिजिटल करेंसी पर भी मोहर लगे होंगे।

ऐसा कहा जा सकता है, कि यह डिजिटल करेंसी भौतिक मुद्रा का एक डिजिटल रूप है। रिजर्व बैंक की यह डिजिटल करेंसी ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग करके बनाई जाने वाली है।

ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग करते हुए बनाई गई डिजिटल रुपए को नगद में बदलना भी आसान होगा। RBI द्वारा जारी किया गई यह डिजिटल करेंसी की कीमत अन्य क्रिप्टो करेंसी की कीमत से बहुत ही कम होगी।


RBI ने क्रिप्टो करेंसी क्यों लाँच की ?

RBI द्वारा यह मुख्य रूप से क्रिप्टोकरेंसी के उपयोग में वृद्धि के कारण लॉन्च किया गया है, क्योंकि बिटकॉइन का मार्केट बहुत ही अधिक गिरता तथा चढ़ता रहता है।

क्रिप्टो करेंसी को लॉन्च करने का एक मुख्य कारण यह भी है, कि अब लोग अधिक से अधिक डिजिटल भुगतान का उपयोग कर रहे हैं और आगे यदि डिजिटल करेंसी का उपयोग बढ़ेगा तो इसका इस्तेमाल भी आसानी से हो सकता है।

सेंट्रल बैंक यह भी मानता हैं, कि डिजिटल मुद्रा जारी करना मुद्रा की छपाई करने और वितरण करने की लागत से काफी कम है। CBDC के द्वारा RBI डिजिटल मुद्रा की लेन-देन को ट्रैक कर सकता है जबकि RBI नगद भुगतान को ट्रैक नहीं कर पाता।


डिजिटल करेंसी कैसे काम करेगी ?

CBDC एक सेंट्रल बैंक द्वारा जारी डिजिटल मुद्रा है जो केंद्रीय बैंकों द्वारा मौद्रिक संपत्ति के रूप में मान्यता प्राप्त सोने, मुद्रा, आरक्षित बांड और अन्य परिसंपत्तियों के रूप में किसी प्रकार की संपत्ति द्वारा समर्थित है।

RBI की यह डिजिटल करेंसी अन्य क्रिप्टो करेंसी से भिन्न होने वाली है। अभी की जो क्रिप्टोकरेंसी है, उनकी लागत बहुत ही अधिक है और इसमें काफी उतार-चढ़ाव भी होते रहते हैं, लेकिन RBI की यह डिजिटल करेंसी की लागत तो कम होगी ही साथ में इसमें उतार-चढ़ाव भी कम होंगे।

जैसा कि आप जानते हैं कि अभी भारतीय रिजर्व बैंक हमें Fiat करेंसी देती है। Fiat करेंसी का मतलब रिजर्व बैंक से रुपया पहले बैंक के पास जाता है और अन्य बैंकों की प्रक्रिया से गुजरते हुए हमारे पास आता है।

लेकिन डिजिटल करेंसी के लिए RBI हम सभी का एक वॉलेट बनाएगी और इस वॉलेट से ही हम डिजिटल करेंसी का प्रयोग कर सकते हैं। इसमें बैंक की प्रक्रिया को बिल्कुल खत्म कर दिया जाएगा। तो इस तरह से ही डिजिटल करेंसी काम करने वाली है।


RBI डिजिटल करेंसी के लाभ :- 
  • यह डिजिटल करेंसी नागरिकों के लिए सबसे अधिक लाभकारी होगा। कभी-कभी लोगों को पैसों की तुरंत जरूरत होती है लेकिन वह बैंक नहीं जा सकते या उनके शहर में बैंकों की संख्या बहुत सीमित है। तो ऐसे लोग डिजिटल करेंसी का उपयोग तुरंत कर पाएंगे।
  • डिजिटल करेंसी के आने से सरकार डिजिटल करेंसी की वास्तविक स्थिति पर नजर रखेगी और इससे काले धन पर भी काबू पाया जा सकेगा।
  • जिस तरह से अभी कुछ लोग जाली नोट का निर्माण कर सकते हैं लेकिन डिजिटल करेंसी के आने से जाली नोट नहीं बन पाएंगे।क्योंकि यह पूरी तरह से रिजर्व बैंक की निगरानी में होगा और डिजिटल रूप में जाली नोट बनाना बहुत ही मुश्किल है।
  • डिजिटल करेंसी के आने से सबसे बड़ी मदद यह होगी कि यह पूरे दुनिया में मान्य होगा। जैसे अभी भारतीय रुपया विदेशों में मान्य नहीं है लेकिन डिजिटल करेंसी विदेशों में भी मान्य होगा।
  • डिजिटल करेंसी से यदि कोई भी गैरकानूनी काम किया जा रहा है तो उसे तुरंत पकड़ा जा सकता है। आज के समय में यदि कोई गैरकानूनी धंधा करता है तो वह नगद भुगतान कर देता है, इससे किसी को पता नहीं चल पाता कि कौन से गैरकानूनी धंधे हुए हैं। डिजिटल करेंसी के आ जाने से गैरकानूनी धंधे के बारे में तुरंत पता लगाया जा सकेगा।
  • डिजिटल करेंसी के चोरी होने का भी कोई डर नहीं होगा क्योंकि यह आपको अपने पर्स में या अपने पॉकेट में नहीं ले जाना पड़ेगा।
  • डिजिटल करेंसी का एक सबसे बड़ा लाभ यह भी है कि इससे कागज की खपत भी कम होगी, क्योंकि नोट बनाने में अधिक कागज का उपयोग किया जाता है डिजिटल करेंसी में किसी भी तरह के कागज उपयोग में नहीं लाए जाएंगे।

For More Info Watch This :


निष्कर्ष :

आज के इस लेख में हमने आपको RBI cryptocurrency name In Hindi तथा RBI क्रिप्टो करेंसी के बारे में जानकारी दी।

उम्मीद करते हैं, कि आज के इस लेख के द्वारा आप सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी को समझ पाए होंगे। यदि आपके मन में कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

Disclaimer :- Above Information In This Article Is Only For Knowledge Purpose. This Is Not A Financial Advice. Cryptocurrencies Are Highly Risky. Invest At Your Own Risk.

Read Also :-

Leave a Reply

Your email address will not be published.