October 1, 2022
Which among the following is the most flexible cryptocurrency in Hindi

Which among the following is the most flexible cryptocurrency in Hindi

Which among the following is the most flexible cryptocurrency in Hindi

जैसे जैसे क्रिप्टोकरेंसी में लोग निवेश कर रहे हैं । वैसे ही बहुत से नए नए  क्रिप्टोकरेंसी लांच भी किये जा रहे हैं । Bitcoin, ethereum, Ripple और भी बहुत से करेंसी trading के लिए उपलब्ध है ।

जब विकल्प इतना अधिक हो तो आप buy करते समय यह सोचते ही होंगे, कि which among the following is the most flexible cryptocurrency in Hindi ?

तो आज हम आपको इस आर्टिकल में which among the following is the most flexible cryptocurrency in Hindi के बारे में विस्तार से बतायेंगे । पूरा जानने के लिए लेख को अंत तक पढ़ें ।


Which among the following is the most flexible cryptocurrency in Hindi

हमारे देश और दुनिया में क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने का चलन day-by-day बढ़ रहा है। अच्छे रिटर्न को देखते हुए इन्वेस्टर क्रिप्टोकरंसी में निवेश करने के लिए रुचि दिखा रहे हैं। इसीलिए निवेशकों को आज हम बताएँगे, कि सबसे flexible क्रिप्टोकरेंसी वर्तमान समय में कौन सी है जिसमें निवेश करके इन्वेस्टर अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते है। वर्तमान में चार क्रिप्टोकरंसी सबसे flexible cryptocurrency है:-

  • Bitcoin
  • XRP (Ripple)
  • Lite coin
  • Ether

आइए इन flexible क्रिप्टोकरंसी के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करें।


1. Ripple

रिप्पल भी बिटकॉइन की तरह ही एक क्रिप्टोकरंसी है। वर्तमान समय में यह सबसे flexible क्रिप्टोकरंसी है। यह 2012 में लांच हुई थी। मुख्य रूप से रिपल का प्रयोग ऐसेट एक्सचेंज, payment सेटलमेंट और रेमिटेंस सिस्टम के लिए किया जाता है।

रिप्पल क्रिप्टोकरंसी होने के साथ-साथ एक payment नेटवर्क भी है। रिप्पल के द्वारा किसी भी तरह की करेंसी का लेन देन किया जा सकता है। इसके माध्यम से बिटकॉइन, lite coin, यूरो, डॉलर आदि सभी तरह की करेंसी, ट्रांसफर की जा सकती है। इसकी ट्रांजैक्शन स्पीड हाई है। यह एक ओपन सौर्स और डिसेंट्रलाइज्ड पैमेंट नेटवर्क है इसीलिए इसके clients बड़े प्रमुख बैंक और वैश्विक स्तर की वित्तीय संस्थाएं हैं।

रिप्पल कैसे कार्य करता है ?

रिप्पल एक ओपन सौर्स और पीयर-टु-पीयर, decentralized प्लेटफॉर्म पर काम करता है, जिससे किसी भी प्रकार की मनी को ट्रांसफर करने में आसानी होती है। रिप्पल अपने कार्य को पुरा करने के लिए गेटवे का प्रयोग करता है। गेटवे वह होता है जो दो पक्षों के बीच क्रेडिट मध्यस्थ के रूप में काम करता है। गेटवे रिप्पल नेटवर्क में ट्रस्ट चेन पर एक लिंक बनाता है जो एक सुरक्षित नेटवर्क के माध्यम से, सार्वजनिक एड्रेस पर पैसे ट्रांसफर करने और पैसे प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करता है।

रिप्पल क्रिप्टो XRP

रिप्पल एक सुरक्षित पेमेंट नेटवर्क है। इसने अपनी cryptocurrency भी लॉन्च की है, जिसका नाम XRP है। XRP मुख्य रूप से ब्रिज करंसी के रूप में कार्य करता है और यह एक्सचेंज की सुविधा भी प्रदान करता है।

रिप्पल और XRP भले ही दोनों एक एक दूसरे से लिंक है परंतु इन्हें ऑपरेट अलग-अलग इकाई के रूप में किया जाता है। रिप्पल एक नेटवर्क कंपनी है जो वैश्विक स्तर पर पेमेंट सिस्टम transfer करने का काम करती है जबकि XRP एक क्रिप्टोकरंसी है जिसका प्रयोग ऑनलाइन पेमेंट, रेमिटेंस, और छोटी बड़ी transaction को पूरा करने के लिए किया जाता है।

रिप्पल ने एक नई सर्विस “रिप्पल लिक्विडिटी हब” का ऐलान किया है। यह मुख्य रूप से फाइनेंस कंपनी के लिए बनाया गया हैं ताकि फाइनेंस कंपनी अपने ग्राहकों को क्रिप्टोकरंसी में ट्रेडिंग की क्षमता provide करवा सके। रिप्पल लिक्विडिटी हब अगले साल लांच होने वाला है। यह कस्टमर्स को over the counter, मार्केट में, और एक्सचेंज आदि विभिन्न तरीको से क्रिप्टोकरंसी में ट्रेड करने में सक्षम बनाएगा।

रिपल ने बताया कि रिप्पल लिक्विडिटी अपने कस्टमर को अनुकूल कीमतों पर स्मार्ट ऑर्डर्स के लिए सपोर्ट करेगा जिससे  customer क्रिप्टो करेंसी खरीदने, बेचने और रखने के लिए सक्षम होंगे।

भारत में रिपल कैसे खरीदें ?

भारत में क्रिप्टोकरंसी में ट्रेड करना उतना ही आसान है जितना कि शेयर मार्केट की निफ्टी और सेंसेक्स में ट्रेडिंग करना है। रिप्पल, बिटकॉइन हो या कोई अन्य करेंसी हो, कोई भी इंवेस्टर आसानी से cryptocurrency खरीद सकता है।

रिप्पल् करेंसी को खरीदने के लिए आप किसी भी क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज पर login करें। एकाउंट बनाने के लिए मांगी गई पर्सनल जानकारी को fill करके, sing up करे। शेयर मार्केट की डिमैट अकाउंट की तरह ही आपका अकाउंट बनकर तैयार हो जाएगा जिसमें आप पैसे ट्रांसफर करने के बाद रिप्पल करेंसी या किसी भी अन्य currency को खरीद सकते हैं।

भारत में cryptocurrency खरीदने के विकल्प

निम्न विकल्पों के द्वारा आप भारत में cryptocurrency खरीद सकते हैं:-

Bitbns. Com

Cryptocurrency मे Trade करने के लिए यह एक अच्छा cryptocurrency exchange है। इसके माध्यम से आप किसी भी crypto मे निवेश कर सकते हैं। इसकी ट्रेड फीस भी काफी कम है।

Unocoin.com/in

Unocoin एक इंटरनेशनल cryptocurrency exchange है। यह 2012 मे लॉन्च हुआ परंतु भारत में यह 2018 मे आया है। Unocoin पर आप 30+ cryptocurrency मे ट्रेड कर सकते हैं।

Zebpay.com/in/

Zebpay भी एक इंटरनेशनल क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज है। यह 2014 में अस्तित्व में आया है। इस एक्सचेंज पर भी आप सभी तरह की क्रिप्टोकरंसी खरीद व बेच पाएंगे।

WazirX.com

यह भारत की एक पॉपुलर क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज है। WazirX पर बिटकॉइन, रिप्पल जैसी 100 से अधिक क्रिप्टोकरंसी को बेचा और खरीदा जा सकता है।

CoinDCX.com

यह वर्ष 2018 में शुरू हुआ है। इसमें मुख्य रूप से हम क्रिप्टो फ्यूचर मे ट्रेड कर सकते हैं। अन्य cryptocurrency को भी इसके माध्यम से खरीदा व बेचा जा सकता हैं।

Bayucoin.com

यह भी पॉपुलर क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज है, जहां पर हम किसी भी क्रिप्टो को खरीद या बेच सकते हैं।


2. Bitcoin

बिटकॉइन एक डिसेंट्रलाइज्ड करेंसी है यानी कि यह किसी भी राज्य, देश या अथॉरिटी के नियंत्रण में नहीं है। इसमें ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया गया है। बिटकॉइन सबसे फ्लैक्सिबल करेंसी में से एक है। बिटकॉइन डिजिटल वॉलेट में सेव की जा सकती है।

इसकी कीमत स्थिर नहीं होती बल्कि दुनिया भर की गतिविधियों के अनुसार बढ़ती या घटती रहती है। बिटकॉइन में निवेश करना बहुत ही आसान है। इसमें भी रिपल की तरह पहले यूज़र को अकाउंट बनाना होता है। अपनी पर्सनल डिटेल्स वेरीफाई करवाने के बाद कोई भी user इसमें ट्रेड कर सकता है। बिटकॉइन को unocoin, zebpay, WazirX आदि एक्सचेंज के द्वारा खरीदा जा सकता है।


3. Litecoin

लिटकॉइन करंसी वह करेंसी है जो बिटकॉइन और XRP करंसी के बाद मार्केट में बहुत ज्यादा प्रचलित है। यह 2011 में लॉन्च हुई थी। यह भी रिप्पल की तरह पेमेंट नेटवर्क पर काम करता है। इसके द्वारा हम किसी भी व्यक्ति को बहुत आसानी से पैसे भेज सकते हैं जैसे कि Gpay, Phonepay इत्यादि एप्लीकेशन के माध्यम से भेजे जाते हैं।

यह ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर बेस्ड होता है। इसे बिटकॉइन का छोटा भाई भी कहा जाता है क्योंकि इसके अधिकतर काम बिटकॉइन से मिलते जुलते हैं। इसकी पेमेंट सर्विस बहुत फास्ट है और इसके कमाल की फीचर्स की वजह से यह मार्केट में बहुत जल्दी पॉपुलर हो गया है। लिटकॉइन में निवेश करने के लिए हम coin swtich, wazirX आदि एक्सचेंज का प्रयोग कर सकते हैं।


4. Ether

ETH, बिटकॉइन की तरह ही डिजिटल करेंसी है जिस पर किसी भी देश या सरकार का नियंत्रण नहीं है। इसे 2013 में लांच किया गया था। यह क्रिप्टोग्राफी द्वारा सुरक्षित होता है। इसे flexible cryptocurrency में गिना जाता है। यह एथेरियम ब्लाकचैन टेक्नोलॉजी पर काम करता है।

यह cryptocurrency भी बहुत कम समय में पॉपुलर हो गया है। वर्तमान समय में इसके लगभग 12 मिलियन से भी ज्यादा ट्रेडर्स है जिन्होंने क्रिप्टोकरंसी वॉलेट में ETH को होल्ड किया हुआ है। कोई भी ट्रेडर एथेरियम को wazirX या अन्य क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज के माध्यम से खरीद सकता है।


For More Info Watch This :


निष्कर्ष :-

आज के इस लेख में हमने which among the following is the most flexible cryptocurrency in Hindi के बारे में जाना है। आशा करते हैं कि आपके लिए हमारे द्वारा दी गई जानकारी मददगार साबित होगी। यदि आपके मन में इस लेख से जुड़े कोई भी सवाल है तो हमें कमेंट सेक्शन में से बताएं।

Read Also :-

Leave a Reply

Your email address will not be published.